Thursday, June 1, 2017

सुबबूल के बीजों का सीड बॉल बनाना

सुबबूल के बीजों का सीड बाल बनाना 


सुबबूल एक द्विदल जाती का पेड़ है इसलिए यह जमीन से जितना ऊपर रहता है अपनी छाया के छेत्र में नत्रजन (यूरिया ) सप्लाय करने  का काम करता है। यह फसलों को गर्म और ठंडी हवा से बचाता है। फसलों पर लगने वाले रोगों से बचाव करता  है। बरसात को लाता है बरसात के पानी को संग्रहित कर भूमिगत जल के स्तर को बढ़ाता है।  इसकी पत्तियां हाई प्रोटीन चारे से युक्त रहती हैं। दुधारू पशु इसे चाव से खाते  हैं।  इस से साल भर हरा चारा मिलता है।  इस पेड़ की खासियत यह है कि यह बहुत तेजी से बढ़ता है। जितना काटो उतना तेजी से पनपकर फिर जैसा की तैसा हो जाता है।

इसकी लकड़ी इमरती और जलाऊ के लिए बहुत उपयोगी है। इसके साथ गेंहू और चावल की बिना जुताई  ,खाद और दवाइयों की उन्नत खेती भी हो जाती है।

इसको उगाने के लिए शुरू में सीड बॉल बना कर फैलाना सबसे अच्छा रहता है। इसके लिए हमे क्ले (कपा ) चाहिए यह सामन्यत: तालाब के नीचे जब पानी सूख जाता है मिलता है। यह नदी नालों के किनारे पर भी मिलता है। यह जंगलों और खेतों से बह कर वहां इकट्ठा होता है। यह मिट्टी के बर्तन बनाने के लिए उपयोगी है। इसको परखने के लिए एक सीड बाल बनाकर उसे पानी में डाल कर रखने से वह  घुलती नहीं है।

इस मिट्टी को साफ़ कर बारीक कर  लिया जाता है इसके साथ बीजों का करीब 1 :7 के हिसाब से मिक्सर बना कर आटे की तरह गूथ लिया जाता है।मिट्टी  गूँथी हुई मिट्टी कर्री होना चाहिए यानी जब हम अपने कान के नीचे लटकने वाले भाग को पकड़ते हैं उतनी कर्री होना चाहिए।

इसके बाद हाथों से करीब १/२ इंच व्यास की गोलियां बना ली जाती है


No comments: